सोमवार, 28 मई 2018

उदास आसमान

 उदास है आसमान
क्योंकि नदी के पानी में 
फ़ैल गया है  जहर 

यह जहर धर्म का हो सकता है 
हो सकता है यह राजनीति का 
और हो सकता है विश्वासघात का 
जिसे पीकर चिड़ियों के पंख 
हो रहे हैं कमजोर 

यह जहर पैदा करता है भ्रम 
निर्णय की क्षमता होती जाती है 
कमजोर शनैः शनैः 
चिड़ियों को आभास भी नहीं होता 

कमजोर पंखों से चिड़ियाँ 
कहाँ छू पाती हैं आसमान 
आसमान रहता है उदास 
चिड़ियों के बिना 
जैसे उदास रहता है 
मरे हुए बेटों के बूढ़े माँ बाप के घर का दालान 
उदास है आसमान ! 

जलीय कीट

ए. के. रामानुजम की कविता "दी स्ट्राईडर्स" का अनुवाद - जलीय कीट बाकी सब कुछ छोडिये  कुछ पतले पेट वाले  बुलबुले सी पारदर्शी आँख...