मंगलवार, 14 अगस्त 2012

देश: आपके लिए - हमारे लिए



  
१.

आपके लिए
बनी सड़क
आई बिजली
बने पब्लिक स्कूल
नए नए कालेज
हमारे लिए
हुए हर साल
वादे


२.

आपके लिए
बने नए शहर
हुए निवेश
आयात हुई प्रौद्योगिकी
हमारे लिए
हुए हर साल
नए नए वादे


३.

आपके लिए
सहज हुई नीतियाँ
आसान हुई नीलामियाँ
सरकार बनी गारंटर
हमारे लिए
हुए हर साल
कुछ और नए  वादे


(स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाओं के साथ )

26 टिप्‍पणियां:

  1. आज़ादी के पावन पर्व की आपको भी अनंत शुभकामनाएं अरुण जी.

    सादर
    अनु

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत सुन्दर..स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाओं..

    उत्तर देंहटाएं
  3. स्‍वतंत्रता दिवस की अनंत शुभकामनाएं

    कल 15/08/2012 को आपकी इस पोस्‍ट को नयी पुरानी हलचल पर लिंक किया जा रहा हैं.
    आपके सुझावों का स्वागत है .धन्यवाद!


    '' पन्‍द्रह अगस्‍त ''

    उत्तर देंहटाएं
  4. फिर से आ रही है १५ अगस्त ... वादों की बरसात तो फिर से होने वाली है ..
    आपको १५ अगस्त की शुभकामनायें ...

    उत्तर देंहटाएं
  5. असली आज़ादी तो भ्रष्ट और सड़े-गले सिस्टम से चाहिए अब। वादों से काम नहीं चलने वाला। प्रासंगिक कविता....

    उत्तर देंहटाएं
  6. वादे करने वालों पर अब भरोसा नही करना है । स्वतन्त्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  7. सटीक चित्रण...
    स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनायें...

    उत्तर देंहटाएं
  8. हाँ, हुआ तो यही है..... सटीक पंक्तियाँ

    उत्तर देंहटाएं
  9. अद्भुत कवितायें |स्वतंत्रता दिवस की बधाई |

    उत्तर देंहटाएं
  10. सुना है जब से वो आजाद हो गया है
    हमारा कहाँ रहा वो आपका हो गया है!
    बहुत सुंदर प्रस्तुति !

    उत्तर देंहटाएं
  11. दो वर्गों के बीच की खाई का सुन्दर चित्रण

    उत्तर देंहटाएं
  12. यही है आज का सत्य …………स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  13. बहुत खूब अरुण जी सटीक और सार्थक पंक्तियाँ यही तो हो रहा है वादे और सिर्फ वादे----स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  14. सही है आज तक यही तो देते आए है वादे वादे और वादे ... स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं ...

    उत्तर देंहटाएं
  15. बात तो सही है..
    हमारे हिस्से में तो सिर्फ वादे ही आते है....
    पर फिर .. भी आजादी का उत्सव तो मनाना ही है...
    स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाये

    उत्तर देंहटाएं
  16. आज़ादी बड़े लोगों की बोली में
    और छोटे लोगों की बडबड़ाहट में है ...
    छोटे आज़ादी की बात करें तो आगे थाना और जेल है
    बड़ी लोगों के लिए आज़ादी
    अधिकार और आनंद का मेल है .....

    उत्तर देंहटाएं

  17. ..... सही बात है अरुण जी
    स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं !!!!

    उत्तर देंहटाएं
  18. यही होता आया है... और हम बाध्य हैं यह सब सहने को.. क्योंकि हमें तो घुट्टी में पिलाया गया है कि कोई न कोई अवतार अवश्य आता है हमारी रक्षा को.. बस हाथ पर हाथ धरे उसी अवतार की प्रतीक्षा में हैं और जी रहे हैं वादों की ऑक्सीजन के सहारे!!
    अब क्या बधाई दूं और क्या शुभकामनाएँ!!

    उत्तर देंहटाएं
  19. आजादी मतलब वादे और वादे किसी के लिये और
    किसीके लिये सौदे ही सौदे ।

    उत्तर देंहटाएं
  20. बढिया,
    देखन मे छोटन लगे, घाव करे गंभीर

    उत्तर देंहटाएं
  21. हम तो कुछ वादे और पक्के इरादे के साथ जीने की कला सीख गए हैं।

    उत्तर देंहटाएं