गुरुवार, 19 सितंबर 2019

प्रसिद्द तिब्बती कवि तेनजिंग चेंडू की एक कविता का अनुवाद


विश्वासघात
-----------------------------
- तेनजिंग चेंडू


मेरे पिता मर गए
बचाते हुए हमारा घर,
हमारे गाँव, हमारा देश
लड़ना चाहता था
मैं भी
किन्तु हम हैं बौद्ध
दुनिया कहती है
हमें होना चाहिए
शांतिपूर्ण और अहिंसक
इसलिए मैंने अपने दुश्मनों को
कर दिया है क्षमा .
किन्तु कई बार मुझे लगता है
मैं ने अपने पिता के साथ किया है
विश्वासघात।
=====
अंग्रेजी से अनुवाद : अरुण चन्द्र रॉय

4 टिप्‍पणियां: