मंगलवार, 26 मई 2015

एक अदृश्य रेखा


तय कर दी है
एक रेखा
कुछ लोग
उसके नीचे हैं
कुछ लोग ऊपर

इस रेखा के नीचे
जो रहते हैं
उनके बारे में
लगाये जाते हैं
अनुमान
क्योंकि मालूम नहीं है
रेखा के प्रकार
इस रेखा के ऊपर रहने वालों को
रेखा यह
हृदय को भी
बाँटती है
कई हिस्सों में
रेखा जो
राजधानी से निकलती है
और गाँव  तक पहुँचती  है....
यह रेखा अदृश्य है.

4 टिप्‍पणियां:

  1. एक नहीं कई रेखायें हैं
    जब जिस से काम बना है
    मक्कारी से काम में लाये हैं ।

    बहुत खूब ।

    उत्तर देंहटाएं
  2. व्यंग की छुपी हुयी धार बहुत तेज़ है ... लाजवाब रचना ...

    उत्तर देंहटाएं