शुक्रवार, 16 अप्रैल 2010

समय के साथ


कम हो रहे हैं
खेत और खलिहान
बढ़ रही हैं
अट्टालिकाए
ए़क से बड़े ए़क
ए़क से ऊँचे ए़क
और सब के सब
प्रकृते के गोद में
पर्यावरण अनुकूल
हरे भरे खुले वातावरण में
होने के दावे के साथ...



चौड़ी हो रही हैं
सड़के
और अतिक्रमण
के शिकार हो रहे हैं
हवा
पानी और
धूप
अपने हिस्से की
जिंदगी नहीं
जी पा रहे हैं
वृक्ष


ख़रीदे
जा रहे हैं
खेत
बस रहे हैं
खाली शहर
बिक रहे हैं
स्वाभिमान
अस्मिता
और भविष्य


नए नए
समझौतो और
ज्ञापनो पर
हो रहे हैं
हस्ताक्षर
बंद कमरों में
बदले जा रहे हैं
भूगोल
और सौदा
हो रहा है
धरती के गर्भ का
विस्थापित
हो रही हैं
नदिया
जंगल
और
तथाकथित
जंगली जन

समय के साथ
कम हो रहे हैं
ख़त्म हो रहे हैं
विलुप्त हो रहे हैं
आप
हम
हमलोग


11 टिप्‍पणियां:

  1. समय के साथ
    कम हो रहे हैं
    ख़त्म हो रहे हैं
    विलुप्त हो रहे हैं
    आप
    हम
    हमलोग..........
    कितनी सच बात कह दी आपने ???

    उत्तर देंहटाएं
  2. bahut hi sachhi baat kahi hai aapne...
    badhai... itni achhi rachna ke liye...
    mere blog par is baar..
    नयी दुनिया
    jaroor aayein....

    उत्तर देंहटाएं
  3. समय के साथ
    कम हो रहे हैं
    ख़त्म हो रहे हैं
    विलुप्त हो रहे हैं
    आप
    हम
    हमलोग
    शब्दो का बेहतरीन प्रयोग. भाव समीचीन.
    बेहतरीन रचना

    उत्तर देंहटाएं
  4. paryvaran par ek karara prahar ,bahut hi sahi baat kahi hai aapne.bahut hi prashanshniya-----
    poonam

    उत्तर देंहटाएं
  5. samay ke saath kho rahi hai manytayen
    badh raha hai akelapan
    kho rahi hain khushiyaan
    badh rahi hain dooriyaan....

    bahut hi badhiyaa

    उत्तर देंहटाएं
  6. Paryavaran ko bimb mein rakh kar bahut hi shashakt rachnaaon ka srajan kiya hai ... bahut kuch kahti hain aapki rachnaayen ...

    उत्तर देंहटाएं
  7. ख़रीदे
    जा रहे हैं
    खेत
    बस रहे हैं
    खाली शहर
    बिक रहे हैं
    स्वाभिमान
    अस्मिता
    और भविष्य....
    bhautik jeewanshaili ke karan ham paryavaran ke saath saath jiwan mulyon ko bhi kho rahe hain. yatharthvadi kavita.....

    उत्तर देंहटाएं
  8. ख़त्म हो रहे हैं
    विलुप्त हो रहे हैं
    आप
    हम
    हमलोग

    पर्यावरण के सभी पहलुओं को बखूबी उकेरा है अपने अपनी सभी कविताओं में

    उत्तर देंहटाएं
  9. bahut khoob aapki samvedanaye paryavaran ke liye aur samaj ke liye. badhai.

    उत्तर देंहटाएं