गुरुवार, 15 जुलाई 2010

यात्रा

यात्रा
सब करते हैं
शब्द भी

तुम तक
जो शब्द पहुँचते हैं
उनकी यात्रा
रूमानी होती है
उन शब्दों के एहसास
मधुर होते हैं

जब शब्द
आपके चेहरे पर
ख़ुशी की लकीरें खींचते हैं
वे हजारों मील की यात्रा कर लेते हैं

हया की लालिमा से
जब नहा जाते हो तुम
मेरे शब्दों को पढ़ कर
ये शब्द कई समंदर पार कर जाते हैं

शब्दों के लिए
चाँद का छूना
बहुत मुश्किल नहीं है
तुम्हारे सपनो के साथ
वे अक्सर ही यात्रा करते हैं

शब्द और तुम
कर आओ ए़क यात्रा
मेरे ह्रदय की झील में

17 टिप्‍पणियां:

  1. सच में, जब शब्द इन सुन्दर भावों को पिरोते हैं तो बड़े भाग्यशाली होते हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  2. शब्द और तुम
    कर आओ ए़क यात्रा
    मेरे ह्रदय की झील में

    बेहद सुन्दर और गहन अभिव्यक्ति…………बहुत सुन्दर लिखते हैं आप्।

    उत्तर देंहटाएं
  3. शब्दों के लिए
    चाँद का छूना
    बहुत मुश्किल नहीं है
    तुम्हारे सपनो के साथ
    वे अक्सर ही यात्रा करते हैं

    bahut umda rachna hai, emotions taken the front seat and taken me on the journey of love and compassion.

    उत्तर देंहटाएं
  4. शब्दों के लिए
    चाँद का छूना
    बहुत मुश्किल नहीं है
    तुम्हारे सपनो के साथ
    वे अक्सर ही यात्रा करते हैं ..

    शब्दों का सफ़र लाजवाब है ... बिन कहे यहाँ से वहाँ शब्द ही पहुँचते हैं ...
    लाजवाब है आपकी कल्पना शक्ति ...

    उत्तर देंहटाएं
  5. शब्द और तुम
    कर आओ ए़क यात्रा
    मेरे ह्रदय की झील में

    -अद्भुत रचना!

    उत्तर देंहटाएं
  6. तिलक राज कपूर जी ने मेल से उत्साह बढाया, क्योंकि ब्लॉग पर नहीं होने का सन्देश प्राप्त हो रहा था:
    कविता बहुत अच्‍छी है लेकिन
    जब शब्द
    आपके चेहरे पर
    ख़ुशी की लकीरें खींचते हैं
    वे हजारों मील की यात्रा कर लेते हैं

    में 'आपके' चुभ रहा है, संवादानुसार यहॉं 'तुम्‍हारे' रहता तो ठीक रहता।
    सादर,
    तिलक राज कपूर

    उत्तर देंहटाएं
  7. शब्दों के लिए
    चाँद का छूना
    बहुत मुश्किल नहीं है
    तुम्हारे सपनो के साथ
    वे अक्सर ही यात्रा करते हैं
    kya baat hai ...

    उत्तर देंहटाएं
  8. अच्छा लिखते है आप.आपकी लगातार लिखने की आदत पसंद आई.मगर एक बात कहे,कुछ रूक रूक कर और गहरा लिखे तो आनंद आयेगा. वैसे मैं आपकी केवल उन रचनाओं का कायल जो वर्गभेद,बेरोजगारी,जनवाद और बेकारी का भाव लिए होती है उनमें आपका हाथ बहुत साफ़ है.

    उत्तर देंहटाएं
  9. आपकी इस कविता की भाषा की लहरों में जीवन की हलचल साफ देखी जा सकती हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  10. bahut sunder bhat kahi
    शब्द और तुम
    कर आओ ए़क यात्रा
    मेरे ह्रदय की झील में

    उत्तर देंहटाएं
  11. शब्द और तुम
    कर आओ ए़क यात्रा
    मेरे ह्रदय की झील में

    बहुत सुन्दर पंक्तियाँ...

    उत्तर देंहटाएं
  12. जब शब्द
    आपके चेहरे पर
    ख़ुशी की लकीरें खींचते हैं
    वे हजारों मील की यात्रा कर लेते हैं-kuch choti-moti khamiyon ko chodakar aik behtareen prastuti.apni kavita ko thoda samay dein.

    उत्तर देंहटाएं
  13. 17.07.10 की चिट्ठा चर्चा में शामिल करने के लिए इसका लिंक लिया है।
    http://chitthacharcha.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  14. जब शब्द
    आपके चेहरे पर
    ख़ुशी की लकीरें खींचते हैं
    वे हजारों मील की यात्रा कर लेते हैं

    बेहद ख़ूबसूरत और उम्दा

    उत्तर देंहटाएं
  15. शब्द और तुम
    कर आओ ए़क यात्रा
    मेरे ह्रदय की झील में

    काश ये बात सच हो जाये

    उत्तर देंहटाएं